Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Cyclone And Anticyclone In Hindi |Important Cyclone In India

चक्रवात और प्रतिचक्रवात

जब अलग-अलग प्रकार के वायुराशियों का मिश्रण होता है,जिससे यह तेज हो जाता है और ऊपर उठ कर बवंडर का रूप ले लेता है तब चक्रवात(Cyclone)और प्रतिचक्रवात(Anticyclone)कर निर्माण होता है.

चक्रवात-

  • चक्रवात के केंद्र में वायुदाब कम होता है.
  • उत्तरी गोलार्द्ध में चक्रवात anticlockwise direction(वामा व्रत)में घूमता है.और दक्षिणी गोलार्द्ध में clockwise direction (दक्षिणावर्त)में घूमता है.
  • चक्रवात वर्षा कराने में भी सहायक है.

cyclone

प्रतिचक्रवात-

  • प्रतिचक्रवात के केंद्र में वायुदाब अधिक होता है.
  • यह उत्तरिगोलार्द्ध में clockwise direction(दक्षिणावर्त) और दक्षिणी गोलार्द्ध में anticlockwise direction(वामा व्रत) में घूमता है.
  • प्रतिचक्रवात से मौसम साफ रहता है.

anticyclone

 

भारत में आने वाले कुछ महत्वपूर्ण चक्रवात

India में ऐसे तो समय-समय पर बहुत से cyclones आते है लेकिन हमें अपने परीक्षा की दृष्टी से कुछ महत्वपूर्ण cyclones की जानकारी लेनी है.तो चलिए उन महत्वपूर्ण चक्रवात के बारे में जानते है.

1.Laila(लैला)

  • यह Bay Of Bangal (बंगाल की खाड़ी) (south-estern) में आता है.
  • यह आंध्रप्रदेश,तमिलनाडु और श्रीलंका को प्रभावित करता है.

2.Phailin(फैलिन)

  • इसका नाम वियतनाम ने रखा है.
  • यह सबसे ज्यादा आन्ध्रप्रदेश वा थोडा उड़ीसा और झारखण्ड को प्रभावित करता है.

3.Hudhud(हुदहुद)

  • यह अंडमान आइलैंड को प्रभावित करता है.
  • यह Category 4 का cyclones है.
  • यह सबसे ज्यादा आन्ध्रप्रदेश के विशाखापत्तनम को प्रभावित करता है.
  • इसका असर छत्तीसगढ़,मध्यप्रदेश और उड़ीसा में भी थोडा होता है.

4.Varda(वरदा)

  • यह बंगाल की खाड़ी में आता है.
  • वरदा का मतलब “Rose” होता है.
  • इसे यह नाम पाकिस्तान ने दिया है.
  • यह तमिलनाडू को प्रभावित करता है.

 

ऐ भी पढ़े-

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.